Monkey Fever Alert in Karnataka Uttarakhand: ये बीमारी तेजी से फैल गई है

Monkey Fever Alert in Karnataka

Monkey Fever Alert in Karnataka Uttarakhand सावधान रहें! मंकी फीवर का अलर्ट, जानिए बचाव के उपाय.

Monkey Fever Alert in Karnataka

Monkey Fever Alert in Karnataka हाल ही में देश के कई राज्यों में मंकी फीवर के मामलों के बढ़ने की भी खबर है, क्योंकि कोरोना के नए रूपों से संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि कर्नाटक के उत्तर कन्नड़ जिले में पिछले 15 दिनों में इस बीमारी के मामले तेजी से बढ़े हैं। 31 संक्रमितों में से 12 लोग अस्पतालों में भर्ती हैं, और बाकी लोग घर पर इलाज कर रहे हैं। अब तक सभी हालात स्थिर हैं और कोई गंभीर मामला नहीं हुआ है। 16 जनवरी को मंकी फीवर का पहला मामला सामने आया था।

Monkey Fever Symptoms in Hindi

सावधान रहो! मंकी फीवर के लक्षणों को समझें और सावधान रहें.

  • बुखार: रोग का मुख्य लक्षण अचानक 103°F या 39.4°C से अधिक तेज बुखार है।
  • सिरदर्द होना: तेज और निरंतर सिरदर्द आम है।
  • मांसपेशी दर्द: शरीर, खासकर पीठ और पैरों में तेज दर्द हो सकता है।
  • थकान और कमजोरी: बहुत थकान और कमजोरी महसूस हो सकती है।
  • कब्ज और दस्त: कुछ बार उल्टी और दस्त हो सकता है।
  • आंखों की सूजन और लालिमा: यह लक्षण दुर्लभ हैं, लेकिन वे हो सकते हैं।

Monkey Fever Causes ( बंदर बुखार के कारण )

Monkey Fever Alert in Karnataka मंकी फीवर एक वायरल बीमारी है। यह फ्लेविविरिडे परिवार से संबंधित है और मच्छरों और टिक्स के काटने से इंसानों में फैलता है। यह बीमारी बंदरों में भी पाई जाती है, इसलिए इसे “मंकी फीवर” कहा जाता है।

  • संक्रमित टिक्स: जंगलों या घास वाले इलाकों में पाए जाने वाले टिक्स इस वायरस के मुख्य वाहक हैं। ये खून चूसकर वायरस को इंसानों तक पहुंचाते हैं।
  • संक्रमित मच्छर: कुछ खास प्रजातियों के मच्छर भी इस वायरस को फैला सकते हैं। हालांकि, टिक्स की तुलना में यह संक्रमण का कम आम कारण है।

What is Monkey Fever?

Monkey Fever Alert in Karnataka
Monkey Fever Alert in Karnataka

मंकी फ्लाव: जंगल से आने वाला बुखार जानें: Monkey Fever Alert in Karnataka

“क्यासानूर फॉरेस्ट डिजीज” या मंकी फीवर एक वायरल बीमारी है। यह फ्लेविविरिडे परिवार का है और मच्छरों या टिक्स से फैलता है। यह बीमारी बंदरों में भी पाई जाती है, इसलिए इसे “मंकी फीवर” कहा जाता है।

भारत के कुछ हिस्सों में हाल ही में “मंकी फीवर” के मामले सामने आए हैं, जिससे लोग डर गए हैं और अनिश्चित हैं। लेकिन डरने की जरूरत नहीं! यदि आप सही जानकारी प्राप्त करते हैं तो आप खुद को और अपने परिवार को इससे बच सकते हैं। इस लेख में जानते हैं कि आखिरकार ये मंकी फीवर क्या है.

“क्यासानूर फॉरेस्ट डिजीज” या मंकी फीवर एक वायरल बीमारी है। ये फ्लेविविरिडे परिवार का वायरस है, जो मच्छरों या टिक्स के काटने से संक्रमित होता है। ये बीमारी बंदरों में भी पाई जाती है, इसलिए इसे “मंकी फीवर” कहा जाता है। लेकिन ये सीधे मनुष्य से मनुष्य में नहीं फैलते।

How does Monkey Fever Spread?

  • संक्रमित टिक या मच्छर के काटने से
  • संक्रमित जानवरों के मांस को छूने या खाने से
  • संक्रमित मरीज़ के शरीर के तरल पदार्थों से (बहुत कम संभावना)

बंदर बुखार के गंभीर लक्षण क्या हैं?

Monkey Fever Alert in Karnataka
Monkey Fever Alert in Karnataka
  • दिमागी बीमारी चक्कर आना
  • झटके आना
  • होश खोना
  • मसूड़ों और नाक से खून बहना, सांस लेने में तकलीफ
  • कम रक्तचाप

बंदर बुखार से कैसे बचें (How to avoid monkey fever)

  • अगर जंगल या घास में जाना पड़ा तो पूरी बाजू के कपड़े पहनें और मच्छर भगाने वाली क्रीम लगाएं।
  • टिक्सों से बचने के लिए मोजे और जूते पहनें।
  • संदिग्ध लक्षण दिखते ही चिकित्सक से संपर्क करें।

How to Protect Yourself From Monkey Fever? ( बंदर बुखार से खुद को कैसे बचाएं )

YouTube
  • जंगलों या घास वाले क्षेत्रों में जाने से बचें, या पूरी तरह से ढके कपड़े पहनें।
  • मच्छरों से बचने के लिए मच्छरदानी और मच्छर भगाने वाली क्रीम का इस्तेमाल करें।
  • टिक्स से बचने के लिए जंगल या घास में घूमते समय मोजे और जूते पहनें।
  • संदिग्ध लक्षण दिखते ही चिकित्सक से संपर्क करें।
Monkey Fever: How dangerous is this

Monkey Fever Alert in Karnataka जल्दी निदान और इलाज से मंकी फीवर से पूरी तरह ठीक हुआ जा सकता है। हालांकि, समय पर इलाज ना मिलने पर इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं।

  • यह बीमारी सीधे इंसान से इंसान में नहीं फैलती है।
  • अभी तक इसका कोई टीका उपलब्ध नहीं है, लेकिन बचाव के उपायों को अपनाकर इससे बचा जा सकता है।
  • अफवाहों पर ध्यान न दें और सही जानकारी के लिए स्वास्थ्य विभाग या डॉक्टर से संपर्क करें।

Kuldeep Yadav GF Name जानिये कुलदीप यादव की गर्लफ्रेंड के बारे में

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top